Delhi Building and Other Construction Workers Welfare Board
Achievements of Board
Print

 


  1. An amount of 142.20 Crores has been disbursed as financial assistance for education till March 2009 to 2019, to the wards/ children of registered construction workers studying in various schools under Delhi Govt. which has benefited 2,89,744 children/ wards (disbursement is through Directorate of Education - Govt. of NCT of Delhi)
  2. Financial entitlements under various welfare schemes have been cosiderably revised w.e.f 10.02.2012 which include maternity benifit from Rs.1,000/- to Rs. 10,000/- Pension Benefit from Rs 150/- per month to Rs. 1,000/- per month Advance for Purchase or Construction of house from Rs 50,000/- to Rs. 1,50,000/- financial assistance from marriage from Rs. 2,000/- to Rs. 10,000/-etc

  3. Financial entitlements under various welfare schemes have been cosiderably revised w.e.f 04.03.2016 which include maternity benifit from Rs.10,000/- to Rs. 30,000/- Pension Benefit from Rs 1,000/- per month to Rs. 3,000/- per month Advance for Purchase or Construction of house from Rs 1,50,000/- to Rs. 5,00,000/- financial assistance from marriage from Rs. 10,000/- to Rs. 35,000/(son) Rs. 51,000(Daughter)-etc
  4. The Board has formulated very attractive financial assistance scheme for children of construction workers which provides financial assistance from Class-I to Master's Degree ranging from Rs. 500/- per month to Rs. 10,000/- per month. Courses covered are Graduation , MBA , MCA, LLB, MBBS,etc
  5. The Board has spent an amount of Rs. 21207.33 Lakhs on various welfare Schemes benefiting large number of construction workers.

    6. The Board has registered 5,52,843 Construction Workers in Delhi.   

   

    7. The Board has received collection of Cess amount of Rs. 242126.03 Lakhs on 31.03.2020.                                       








  1. की राशि 142.20 Crores दिल्ली सरकार के तहत विभिन्न स्कूलों में पढ़ने वाले पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के वार्डों / बच्चों को मार्च, 2013 तक शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता के रूप में वितरित किया गया है। जिसका फायदा हुआ 2,89,744 बच्चे / वार्ड (संवितरण दिल्ली के एनसीटी के शिक्षा निदेशालय - सरकार के माध्यम से होता है)
  2. वित्तीय अधिकार विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के तहत सर्वसम्मति से किया गया है revised w.e.f 10.02.2012 which include मातृत्व लाभ रु। 1,000 / - से रु। 10,000 / - पेंशन लाभ 150 / - प्रति माह से रु। 1,000 / - प्रति माह 50,000 रुपये से घर की खरीद या निर्माण के लिए अग्रिम। 1,50,000 / - रुपये से शादी से वित्तीय सहायता। 2,000 / - से रु। 10,000 / -आदि

  3. विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के तहत वित्तीय पात्रता को संशोधित कर w.e.f 04.03.2016 से संशोधित किया गया है, जिसमें मातृत्व लाभ रु। 10,000 / - से रु। 30,000 / - पेंशन लाभ रु। 1,000 / - प्रति माह से रु। 1,50,000 / - रुपये से घर की खरीद या निर्माण के लिए 3,000 / - प्रति माह अग्रिम। 5,00,000 / - की आर्थिक सहायता शादी से रु। 10,000 / - से रु। 35,000 / (पुत्र) रु। 51,000 (बेटी) -आदि
  4. बोर्ड ने बहुत ही आकर्षक रूप दिया है निर्माण श्रमिकों के बच्चों के लिए वित्तीय सहायता योजना जो रुपये से लेकर कक्षा एक से मास्टर डिग्री तक वित्तीय सहायता प्रदान करती है। 500 / - प्रति माह रु। 10,000 / - प्रति माह। पाठ्यक्रम में स्नातक, एमबीए, एमसीए, एलएलबी, एमबीबीएस आदि शामिल हैं
  5. बोर्ड ने एक राशि खर्च की है Rs. 21207.33 Lakhs विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं पर बड़ी संख्या में निर्माण श्रमिकों को लाभ मिल रहा है।

     6. बोर्ड ने पंजीकृत कर लिया है 5,52,843 दिल्ली में निर्माण श्रमिक।

    

      7.बोर्ड को रुपये की उपकर राशि का संग्रह प्राप्त हुआ है। 31.03.2020 को 242126.03 लाख     

                                      

                                                                                    







Chief Minister
<Shri Arvind Kejriwal
Latest News
Important Links
Last Updated :01/Jul/2020